आगरा..... मां को तंत्र विद्या से जीवित करने की कोशिश करती थी बेटी

आगरा..... मां को तंत्र विद्या से जीवित करने की कोशिश करती थी बेटीआगरा..... मां को तंत्र विद्या से जीवित करने की कोशिश करती थी बेटी

आगरा : अर्जुन नगर के जर्जर मकान में एक बंद कमरे में छह माह से बेटी ऐसा काम कर रही थी, जिसे जानकर आपके होश उड़ जाएंगे। अपनी मरी हुई मां को जीवित करने की जिद पर अड़ी थी ये बेटी। मां के मरने की जानकारी उसने किसी को नहीं दी। कमरे में मां का शव रख लिया। फिर मां को जीवित करने के लिए तंत्र विद्या का सहारा लिया। पिछले छह माह से तंत्र मंत्र से मां को जिंदा करने के प्रयास में उसने खुद की जान गवां दी। अर्जुन नगर तिराहे पर वीरेन्द्र सिंह चाहर के मकान में 20 साल से रिटायर्ड जिला स्वास्थ सुरपरवाइर विमला अग्रवाल और उसकी बेटी वीना रह रही थी। 25 फरवरी, 2017 को कमरे में विमला अग्रवाल का कंकाल और वीना का शव मिला, लेकिन दोनों की मौत रहस्य बनी हुई है। फोरेंसिक टीम ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। टीम ने दोनों कमरों में जिन स्थानों पर शव और कंकाल पड़े थे, वहां बारीकी से निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कुछ ऐसी चीज टीम के हाथ लगी, जिससे इतना तो साफ हो गया है कि इस बंद कमरे में तंत्र मंत्र विद्या का सहारा लिया जा रहा था। इन कमरों से फोरेंसिक टीम को कंकाल के पास से धूपबत्ती और अगरबत्ती की राख मिली। पास ही एक कागज का टुकड़ा भी मिला, जिस पर मंत्र लिखा हुआ था। दूसरे कमरे में जहां वीना का शव पड़ा था, वहां कई माचिस पड़ी हुईं थीं। क्षेत्रीय लोगों ने बताया कि वीना कुछ दिनों से रेलवे लाइन के पास रहने वाले बाबा के पास जा रही थी। वीना अपनी मां से बेहद प्यार करती थी। वे दोनों एक दूसरे से अलग नहीं रहते थे। मां की मौत का सदमा वह बर्दाश्त नहीं कर सकी। मां के साथ वह पहले भी पूजा पाठ और तंत्र मंत्र करती रहती थी। पुलिस जांच में अभी तक यह तथ्य सामने आया है कि मां को जिंदा करने के लिए वीना तंत्र मंत्र का सहारा लेती थी, उसके बाद उस कमरे को बंद कर देती थी।

  Similar Posts

Share it
Top