कानपुर: ठेका बंदी को लेकर लोगों ने किया आत्मदाह का प्रयास

कानपुर: ठेका बंदी को लेकर लोगों ने किया आत्मदाह का प्रयासकानपुर: ठेका बंदी को लेकर लोगों ने किया आत्मदाह का प्रयास

कानपुर/लखनऊ : हाईवे से शराब ठेकों की बंदी के बाद शहरी आबादी वाले क्षेत्रों में खोले जा रहे हैं। जिनका जनता भारी विरोध कर रही है। दो दिन से जनपद के कई हिस्सों में खोले गए ठेकों पर महिलाओं ने धावा बोलकर बंदी करा दिया। लेकिन अब यह विरोध उन ठेके पर भी असर डाल रहा है, जो पहले से आबादी क्षेत्रों में चल रहे थे। सोमवार को अलग-अलग क्षेत्रों में महिलाओं ने ठेकों पर पहुंचकर हंगामा काटते हुए बंद करने की मांग की। साउथ सिटी के गोविन्द नगर पुराने पुल से उतरते ही कच्ची बस्ती में सालों से शराब ठेका चल रहा है। यहां पर कुछ ही दूरी पर कई कॉलेज हैं। जिनमें पढ़ाई कर निकलने वाली छात्राओं से नशे में धुत पियक्कड़ आए दिन आश्लीलता करते हैं। सोमवार को गुस्साईं सैकड़ों महिलाएं लाठी-डंडों के साथ ठेके पर पहुंची और हंगामा शुरू करते हुए ठेका बंद किए जाने की मांग करने लगी। इस बीच कुछ लोगों द्वारा मिट्टी का तेल डालकर आग लगाने का प्रयास करने लगे। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आत्मदाह करने का प्रयास कर रहे लोगों को किसी तरह से शांत कराया। इसी तरह से नौबस्ता इलाके में स्थित एक ठेके पर लोगों की भीड़ ने तोड़फोड़ करते हुए हंगामा काटा। शहर के रायपुरवा स्थित भन्नानापुरवा ठेके में तो महिलाएं घुस गई और जमकर तोड़फोड़ करने लगे। महिलाओं के आक्रोश को देखते हुए ठेके के कर्मचारी दुबक गए। आक्रोशित महिलाओं ने रायपुरवा से कालपी रोड जाम कर दी। जानकारी मिलते ही पुलिस पहुंच गई और भीड़ को काबू करने की कोशिश में तीखी नोकझोक हुई। आरोप है कि शराब ठेके के चलते नशेड़ियों द्वारा राह चलती युवतियों व महिलाओं से छेड़खानी करते हैं। ठेका बंद होना चाहिए, ऐसा नहीं किए जाने पर आग लगा दी जाएगी। इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिंह ने बताया कि लोगों को शांत करा दिया गया है। ठेका बंदी को लेकर लोगों को डीएम से मिल शिकायत किए जाने की बात कही है।

  Similar Posts

Share it
Top