प्रेमिका के घर शादी की बात करने पहुंचे प्रेमी की संदिग्ध हालातों में मौत डेडबॉडी रख न्याय की आस में बैठा परिवार

प्रेमिका के घर शादी की बात करने पहुंचे प्रेमी की संदिग्ध हालातों में मौत डेडबॉडी रख न्याय की आस में बैठा परिवारkanpur Headlines News Bharat Ka Ujala

कानपुर : घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र में प्रेमिका के घर शादी की बात करने पहुंचे प्रेमी की संदिग्ध हालातों में मौत हो गयी थी। परिजन मामले में मुकदमा दर्ज कर प्रेमिका के परिजनों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव रखे हुए हैं। घाटमपुर के बिरहर चौकी क्षेत्र स्थित बौहार गांव निवासी सुखी लाल का बेटे चन्द्रप्रकाश नोएडा में एक कंपनी में जूनियर इंजीनियर था। छह महीने पहले मिली जॉब के बाद वो होली पर अपने गांव आया। यहां पर युवक के गांव में ही रहने वाले इंद्रपाल के जहानाबाद जाफरगंज थाना निवासी रिश्तेदार जगदीश की बेटी प्रेमिका रश्मि से प्रेम प्रसंग था। चन्द्रप्रकाश इंद्रपाल का बेटे प्रियांशु के साथ मंगलवार को प्रेमिका रश्मि के घर पहुंचा और शादी के सिलसिले में बात की। शादी के बात करने के बाद उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई और उसकी डेडबॉडी ही घर वापस लौटी। शरीर पर मिले पिटाई के निशान मृतक चंद्रप्रकाश की पीठ व शरीर के अन्य हिस्सों पर पिटाई के निशान नजर आ रहे हैं। पूरा शरीर नीला पड़ चुका है। स्थानीय पुलिस को जब परिजनों ने हत्या की तहरीर देने के लिए कहा, तो घटना जाफरगंज थाने की बात कर टरका दिया। देर रात मृतक के परिजन जाफरगंज थाने पहुंचे, तो पुलिस ने डेडबॉडी लेकर आने की बात कहकर टाल दिया। पुलिस के रवैये से नाराज मृतक के परिजनां का कहना है कि जब तक उनकी सुनवाई नहीं होगी तब तक डेडबॉडी पोस्टमार्टम के लिए नहीं जायेगी। परिजनों ने लगाया मिलीभगत का आरोप मृतक के परिजनों के अनुसार पुलिस आरोपियों का पक्ष ले रही है। परिजनों ने मामले को लेकर आलाधिकारियों से भी बात की, लेकिन कोई सन्तोषजनक उत्तर नहीं मिला। क्या कहती है पुलिस घाटमपुर थानाध्यक्ष से जब मामले को लेकर बात की गयी तो उन्होंने बताया कि घटना जाफरगंज थाने की है। पीड़ितों को वहीं पर तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराना चाहिए। हालांकि की आरोप के आधार पर प्रेमिका व उसकी मां को कस्टडी में लिए जाने की बात की गयी तो पीड़ित परिजनों की ओर से फोन कट कर दिया गया।

  Similar Posts

Share it
Top