मेरठ: शैक्षणिक संस्थायें फीस न आने के कारण छात्रों को परीक्षा में बैठने से न रोकें

मेरठ: शैक्षणिक संस्थायें फीस न आने के कारण छात्रों को परीक्षा में बैठने से न रोकेंशैक्षणिक संस्थायें फीस न आने के कारण छात्रों को परीक्षा में बैठने से न रोकें

मेरठ : जिला समाज कल्याण अधिकारी उमेश द्विवेदी ने बताया कि जनपद के कई संस्थाओं के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, सामान्य वर्ग, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग के बड़ी संख्या में छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति धनराशि छात्र-छात्राओं के खाते में आन्तरित नहीं हो सकी है। उन्होंने बताया कि जिन छात्रों की छात्रवृत्ति अभी तक उनके खातों में नहीं आयी है, उनके भुगतान के लिए शासन स्तर से कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि छात्रों की छात्रवृत्ति नियमावली में दिये गये निर्देशों के अनुसार शीघ्र ही छात्रों के खातों में अन्तरित किये जाने की सम्भावना है। उन्होंने समस्त संस्थाध्यक्ष, निदेशक, रजिस्ट्रार सरकार, गैरसरकार व निजी शिक्षण संस्थाओं से कहा है कि जिन छात्रों की छात्रवृत्ति आने की सम्भावना है उन्हे फीस न आने के कारण परीक्षा में बैठने से न रोका जायें।

  Similar Posts

Share it
Top