latest news in hindi live deoband |मां बाला सुंदरी मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं ने धूमधाम से मनाया हिंदू नववर्ष-भारतीय नववर्ष पर बुराई के त्याग का करें संकल्प: पं0 सतेंद्र

latest news in hindi live deoband |मां बाला सुंदरी मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं ने धूमधाम से मनाया हिंदू नववर्ष-भारतीय नववर्ष पर बुराई के त्याग का करें संकल्प:  पं0 सतेंद्रbharat ka ujala latest news in hindi live deoband

देवबंद : श्री त्रिपुर मां बाला सुंदरी मंदिर परिसर में भारतीय नववर्ष संवत् 2017 धूमधाम से साथ मनाया गया। श्रद्धालुओं ने हवन पूजन उपरांत एक दूसरे को गुलाल लगाकर हिंदू नववर्ष की शुभकामनाएं दी।इस दौरान श्री त्रिपुर मां बाला सुंदरी देवी मंदिर सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष पं. सतेंद्र शर्मा ने कहा कि भारतीय नववर्ष पर सभी लोगों को यह संकल्प लेना चाहिए कि वह पहले नवरात्र से नववर्ष का स्वागत करें, क्योंकि हिंदू धर्म में संवत् के आधार पर नया साल मनाया जाता है। उन्होंने हवन पूजन संपन्न कराने के उपरांत श्रद्धालुओं से भारतीय नववर्ष पर बुराई का त्याग करने, बच्चों को संस्कारवान बनाने तथा उन्हें अच्छा आहार देने का आह्वान किया। कहा कि ऐसा करने से देश व समाज जहां ऊर्जावान होगा वहीं भारतीय संस्कृति को भी मजबूती मिलेगी। इसलिए हिंदू धर्म में संस्कारवान बनना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति अपने माता-पिता का सम्मान करते हैं उनके साथ सदा ईश्वरीय शक्ति विराजमान रहती है क्योंकि माता-पिता संसार के सबसे बड़े ईष्ट हैं। जिसे भी मां-बाप का आर्शिवाद मिले उसे कभी संकटों का सामना नहीं करना पड़ेगा। इस मौके पर हरिओम सिंघल, इंदरपाल सिंह राणा, डा. विश्वनाथ गौतम, लक्की त्यागी, सोनू राणा, रमेशचंद, रेखा, सौरभ वाल्मीकि, तुषार गर्ग, विक्की त्यागी, कुलदीप सैनी, विशाल गर्ग, अशोक पाल, राजेंद्र त्यागी, आशु शर्मा, अंजना, सोनू राणा, साजन, सतबीर सिंह, शिवकुमार राणा, सन्नी गुप्ता, श्वेता आदि मौजूद रहे। उधर, हिन्दू जागरण मंच के राष्ट्र रक्षकोे ने नगर व ग्रामीण क्षेत्रो, न्यायालय परिसर एवं स्थानीय कार्यालय पर जनमानस को तिलक लगाकर हिन्दू नववर्ष हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस दौरान प्रांतीय उपाध्यक्ष ठा0 सुरेन्द्रपाल सिंह ने कहा कि अल्पसंख्यको का राग अलापती कट्टरपंथी विचारधारा धर्मनिरपेक्षता के नाम पर बहुसंख्यक समाज को अपमानित करने का प्रयास लगातार कर रहे है। जिससे धर्म निरपेक्ष शब्द का अस्तित्व खतरे में पड गया है। प्रांतीय उपाध्यक्ष पालक अधिकारी योगी जयनाथ जी ने कहा कि चैत्र प्रतिपदा एक अरब 97 करोड 39 लाख 49 हजार 114 साल पहले ब्रह्मा जी ने सृष्टि का सृजन किया था, शक्ति और भक्ति के नौ दिन अर्थात नवरात्र स्थापना का पहला दिन यही है। इस दौरान रामेष्वर नाथ, बद्रीनाथ, मनोज राणा, सुनील राणा, अमनदीप राणा, सुषील राणा, अवनीष राणा, वीर बहादुर, राजबहादुर, सुमित धीमान, गौरव पुण्डीर आदि सहित भारी संख्या में हिंजाम कार्यकर्ता उपस्थित रहे। वही, लालवाला रोड स्थित माइल स्टोन पब्लिक स्कूल में भारतीय नववर्ष विक्रमी सम्वत 2074 धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर प्रधानाचार्या रूबी त्यागी ने छात्र-छात्राओं को बताया कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का हमारी संस्कृति में बडा ऐतिहासिक महत्व है। सनातन धर्म की मान्यता के अनुसार इसी दिन ब्रह्मा जी ने सृष्टि की रचना प्रारम्भ की थी और सम्राट विक्रमादित्य ने इसी दिन हिन्दू राज्य की स्थापना की थी। प्रबन्धक देवीदयाल शर्मा एडवोकेट ने भारतीय नववर्ष के बारे में बताया कि इस दिन से ही बसन्त ऋतु का आरम्भ होता है। इस दौरान रूचि होरा, षिवाली कौषिक, अलका गोयल, अम्बिका गोयल, गजाला अंसारी आदि उपस्थित रहे।

  Similar Posts

Share it
Top