सहारनपुर तीमारदारो का अस्पताल में हंगामा

सहारनपुर तीमारदारो का अस्पताल में हंगामासहारनपुर तीमारदारो का अस्पताल में हंगामा

सहारनपुर : जिला अस्पताल में मरीज न देखने पर तीमारदार ने चिकित्सक के विरुद्ध जमकर हंगामा काटा। हंगामे के कारण अफरा तफरी व तनाव का माहौल बन गया। चिकित्सक भी घबरा गये। मामले को दबाने के लिए चिकित्सको ने हडताल करने का ड्रामा किया। डॉक्टर ने तीमारदारों पर गाली-गलौच व मारपीट करने का आरोप लगाया। डॉक्टर ने महिला सहित 25 तीमारदारों के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया। जानकारी के अनुसार फतेहपुर निवासी सुरेखा अपनी पति राजकुमार को दिखाने के लिए अस्पताल में आई। जिला अस्पताल की इमरजेंसी में पति को दिखाया।
यहां ड्यूटीरत डॉक्टर ने मरीज को देखकर एक्सरे कराने की सलाह दी। मरीज को भी समस्या थी। जिसके कारण मरीज के साथ आए तीमारदारों ने पहले एक्सरे कराया। उसके बाद ओपीडी में वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. आरके टंडन के यहां दिखाने चले गए। कक्ष के सामने मरीजों की लंबी लाइन लगी थी। इसलिए तीमारदार थोड़ी देर के लिए बाहर खड़े हो गए। कुछ देर बाद नंबर आया। डॉक्टर ने पर्चा देखने को कहा। लेकिन को देखकर डॉक्टर ने देखने से इंकार कर दिया। इसके बाद मरीज के साथ आई उसकी पत्नि सुरेखा का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया। इसके बाद देखते ही देखते ओपीडी में हंगामा खड़ा हो गया। डॉक्टर आरके टंडन का आरोप है कि महिला और उसके साथ अन्य तीमारदारों ने अभद्रता करने के साथ-साथ मेरा मोबाइल तोडऩे की कोशिश की। डॉक्टर ने कहा कि एक तीमारदार ने उनसे बाहर देख लेने की धमकी दी। इतना ही नहीं यहां कक्ष में अन्य स्टाफ अलग हो गया। धीरे-धीरे मामले ने तूल पकडऩा शुरू कर दिया। अस्पताल की ओपीडी में हंगामा देखकर अन्य मरीज सहम गए। यहां ड्यूतीरत डॉ. कुणाल जैन से पूछा, लेकिन डॉक्टर कुणाल ने पूरे मामले से अवगत कराया। डॉक्टर के साथ अभद्रता व्यवहार करने के पक्ष में सभी डॉक्टर एसआईसी कक्ष में एकत्र हो गए और उन्होंने स्ट्राइक करने का फैसला लिया। लेकिन एसआरईसी डॉ. सत्य सिंह ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डॉक्टर से मना कर दिया। एसआईसी ने डॉक्टर आरके टंडन और डॉ. अनिल कुमार के साथ क्या कुछ हुआ, इस बारे में एफआईआर लिखवाई। इस तरह से डॉक्टर ने स्टाफ नर्स सुरेखा और अन्य दर्जनभर से अधिक तीमारदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।





  Similar Posts

Share it
Top