सहारनपुर: अपहृत बालक मात्र सात घंटे की मशक्कत के बाद किया बरामदकुटी रोड का गोली कांड भी पुलिस ने खोला खुलासा करने वाली पुलिस टीम की पीठ DIG ने थपथपाई

सहारनपुर: अपहृत बालक मात्र सात घंटे की मशक्कत के बाद किया बरामदकुटी रोड का गोली कांड भी पुलिस ने खोला खुलासा करने वाली पुलिस टीम की पीठ DIG ने थपथपाईअपहृत बालक मात्र सात घंटे की मशक्कत के बाद किया बरामदकुटी रोड का गोली कांड भी पुलिस ने खोला खुलासा करने वाली पुलिस टीम की पीठ DIG ने थपथपाई

सहारनपुर : डेढ साल के अबोध बालक के अपहरण समेत पिछले दिनो देवबंद क्षेत्र में एक युवक को घायल किये जाने की घटना का पुलिस ने रोमांचक खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। एसएसपी सुभाष चन्द्र दुबे ने पुलिस लाईन में उक्त घटनाओ का पत्रकारो के समक्ष ख्ुालासा करते हुए कहा कि गत दिनो कातवाली देवबंद क्षेत्र के गांव चन्देना कोली से एक शादी समारोह के दौरान डेढ वर्षीय बालक लक्ष्य पुत्र संजीत कुमार का शादी समारोह में शामिल एक महिला व पुरूष ने अपहरण कर लिया था। इस घटना को लेकर थाना देवबंद पर मुकद्दमा अपराध संख्या 486/17 धारा 363 के अर्न्तगत पंजीकृत कर लिया था। इस घटना के खुलासे के लिए एसपी देहात रफीक अहमद के नेतृत्व में क्राईम ब्रांच एवं थाना देवबंद कोतवाली पुलिस की एक सयुक्त टीम गठित की गई थी। इस टीम ने महज़ 7 घंन्टे में अम्बेहटा पीर के बस स्टेण्ड से नितिन पुत्र सतीश एवं श्रीमती मेमता पत्नी चतरा को गिरफ्तार कर इन के कब्जे से अपहृत लक्ष्य को सहकुशल बरामंद कर लिया है। इस खुलासे को करने वाली पुलिस टीम में तलहेडी पुलिस चौकी प्रभारी मुकेश दिनकर आरक्षी संचिन चौहान विरेन्द्र कुमार व महिला आरक्षी कोमल त्यागी मुख्य रूप से शामिल रहे। घटना का खुलासा करने वाली उक्त पुलिस टीम को डीआईजी जेके शाही ने 12 हजार रूपये का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है। इसके अलावा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कुटी रोड पर गर्ल्स हॉस्टल के समीप एक युवक को गोली मारकर घायल किये जाने की घटना से भी पुलिस ने जांच के बाद पर्दा उठा दिया है। एसएसपी एससी दुबे ने बताया कि एक मई को कुटी रोड पर युवक सचिन पुत्र शोभा राम निवासी कस्बा देवबंद मौहल्ला गुर्जरवाडा को अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारकर घायल किये जाने की घटना की रिपोर्ट सुरेंद्र कुमार पुत्र शोभा राम द्वारा देवबंद कोतवली पर दर्ज करायी गयी थी। जांचोपरांत पुलिस को पता चला कि सचिन ने अपने ऊपर दस लाख का कर्जा होने के चलते लोगों की सहानुभूति बटोरने के लिए खुद को गोली मार ली थी। पुलिस ने इस प्रकरण में पुलिस को गुमराह करने के आरोपो में कार्यवाही सुनिश्चित की है।

  Similar Posts

Share it
Top