सहारनपुर: सामाजिक ताने-बाने को तोड़ने नहीं दिया जायेंगाः जिलाधिकारीसोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने वालों पर पैनी नजर

सहारनपुर: सामाजिक ताने-बाने को तोड़ने नहीं दिया जायेंगाः जिलाधिकारीसोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने वालों पर पैनी नजरसामाजिक ताने-बाने को तोड़ने नहीं दिया जायेंगाः जिलाधिकारीसोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल करने वालों पर पैनी नजर

सहारनपुर : जिलाधिकारी एन0पी0सिंह ने कहा कि सभी का दायित्व एवं जिम्मेदारी है कि समाज में आपसी भाईचारा व सामाजिक सौहार्द कायम रहें। उन्होेंने कहा कि कुछ असमाजिक तत्व हमारे सामाजिक ताने-बाने को तोड़ने का प्रयास कर रहे है, ऐसे लोगों से हमें सतर्क रहकर किसी भी दशा में वैमन्स्यता नहीं फैलने देनी है। उन्होंने कहा कि पुलिस व प्रशासन ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के लिए पूरी तरह से सक्षम है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर किसी एक वर्ग विशेश की बपौती नहीं है महापुरूश सभी समाज के लिए आदरणीय एवं सम्मानजनक है। श्री सिंह आज यहां यह विकास भवन में जनपद में आपसी सौहार्द एवं शांति बनाये रखने के लिए प्रधानाचार्य व चिकित्सकों को सम्बोधिंत करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि हमारा सामाजिक ताना-बाना प्रचाीन काल से चला आ रहा है। कतिपय लोग इस ताने-बाने को तोड़ने का कुप्रयास करते है, लेकिन हर बार ऐसे लोगों को मुंह की खानी पड़ती है। उन्होंने कहा कि प्रशासन किसी भी स्तर पर सामाजिक ताने-बाने को टूटने नहीं देंगा। इसके लिए सख्त से सख्त कदम उठाकर ऐसे लोगों के विरूद्ध कठोर से कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने प्रधानाचार्य व चिकित्सकों का आहवान किया कि वे समाज में ऐसा वातावरण बनाने में अपना सहयोग दें जिससे जातिय, धर्म, वर्ग के नाम पर भेद करने वालों की पहचान हो सकें। ऐसे लोग चिन्हित हो सके जो समाज में ऐसी गंदगी फैलाने का काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि हमारा सामजिक चक्र बिना एक-दुसरे के पूरा नहीं हो सकता। जिलाधिकारी ने कहा कि जातिय उन्माद फैलाने वाले आज सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल कर अफवाहें फैला रहे है। उन्होंने कहा कि आज सोशल मीडिया भी झूठी खबरें और अफवाहें फैलाने का माध्यम बन गया है। जातिय व सांप्रदायिक तनाव पैदा करने और दंगे भड़काने में भी इसकी भूमिका बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस व प्रशासन पूरी तरह अब सोशल मीडिया पर अपनी दृष्टि लगाये हुए है। उन्होंने कहा कि कोई भी भड़काऊ टिप्पणी करने वाला बच नहीं पायेंगा। उन्होंने कहा कि देश में महापुरूष सभी धर्माे व जातियों के है। किसी भी महापुरूष का अपमान जिलें की जनता बर्दाश्त नहीं करेंगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद दूबे ने कहा कि जातिय उन्माद फैलाने वालों को पुलिस प्रशासन वालों को अब बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर भड़काऊ भाषाण करने वालों पर पुलिस की पैनी नजर है। सहारनपुर की घटना को लेकर भड़काऊ टिप्पणी करने वाले किसी भी व्यक्ति को चाहे वो देश के किसी भी कोने में बैठा हो, के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने उपस्थित चिकित्सकों व प्रधानाचार्यों का आहवान किया कि वे समाज में भाईचारा समाप्त करने वालों को चिन्हित करने में पुलिस की मदद करें तथा जनता के बीच आपसी सौहाई व भाई चारा कायम करने में अपना अमूल्य सहयोग दें। उन्होंने कहा कि जनपद में अब ऐसी घटनाओं को पुर्नावृत्ति नहीं होने दी जायेगी। इससे पूर्व थाना चिलकाना में शांति एवं सौहार्द की बैठक में डीएम ने सभी से शांति और सौहार्द की अपील की और अफवाहों पर ध्यान ना दिये जाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि आपसी भाई चारे को खंड़ित होने से देश व प्रदेश का विकास प्रभावित होने के साथ ही समाज में आपसी ताल-मेल समाप्त हो जायेगा। ऐसे में हम सब की जिम्मेदारी है कि वो ऐसे लोगों के विरूद्ध एकजुट होकर सामाजिक ताने-बाने की रक्षा के लिए आगे आये। जातिय उन्माद फैलाने वालोंको चिन्हित कराने में प्रशासन व पुलिस की मदद करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी संजीव रंजन, अपर जिला मजिस्ट्रेट प्रशासन एस.के.दूबे, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, पुलिस अधीक्षक नगर प्रबल प्रताप सिंह सहित सभी वरिष्ठ अधिकारी व जिलें के कॉलेजों के प्रधानाचार्य व चिकित्सक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

  Similar Posts

Share it
Top