सहारनपुर: भूमाफियाओं के कब्जे से सरकारी भूमि मुक्त कराएं: मण्डलायुक्त

सहारनपुर: भूमाफियाओं के कब्जे से सरकारी भूमि मुक्त कराएं: मण्डलायुक्त

सहारनपुर : मण्डलायुक्त एम.पी.अग्रवाल ने कहा कि सभी जिलों में एण्टी भूमाफिया दल के माध्यम से भूमाफियाओं तथा उनके द्वारा कब्जाई गयी सरकारी भूमि को चिन्हित कर ठोस व प्रभावी कार्यवाही करते हुए भूमि को उनके कब्जों से मुक्त करायें। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली में तेजी लाई जाये तथा जिन वादों में विभाग द्वारा प्रतिउत्तर दाखिल नहीं किया गया है, ऐसे विभागों को चिन्हित कर उनके कार्यालय अध्यक्ष के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाये। उन्होंने यह भी निर्देष दिये कि अधिकारी अपनी कार्य संस्कृति में पारदर्षिता लाये तथा जन समस्याओं को सुनने के लिए प्रतिदिन कार्यालय में अवश्य ही बैठें।श्री अग्रवाल ने आज यहां सर्किट हाऊस सभागार में विकास कार्य, कर-करेत्तर, मण्डलीय राजस्व टास्कफोर्स तथा राजस्व कार्य की समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिये। उन्होंने स्टाम्प एवं पंजीयन विभाग के द्वारा पिछले सालों की तुलना में इस अवधि के भीतर राजस्व कम प्राप्त होने पर चिंता व्यक्त की। बैठक में बताया गया कि निर्माण कार्य प्रभावित होने के चलते लोगों द्वारा बैनामे आदि ना कराये जाने से राजस्व में कमी आई है। आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे राजस्व बढ़ाने में और अधिक मेहनत व लगन से कार्य करें। उन्होंने वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे व्यापारियों के बीच जी.एस.टी. का व्यापक प्रचार व प्रसार करें। साथ ही व्यापारियों को जी.एस.टी. में पंजीकरण कराने के साथ ही एक्टीवेट भी किया जाये। इसके लिए गोष्ठी व जन जागृति अभियान चलाने के निर्देश दिये।आयुक्त ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि पांच साल से पुराने मामलों का समयबद्ध निस्तारण कराया जाये। जिन कार्यालय अध्यक्षों द्वारा न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों में प्रति उत्तर दाखिल कराया जाये तथा ऐसे कार्यालय अध्यक्षों की जिम्मेदारी भी निर्धारित की जाये। उन्होंने जनपद शामली में पांच साल से अधिक लम्बित वादों के निस्तारण की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने डीएम शामली को निर्देश दिये कि वे तत्काल इस सम्बन्ध में प्रभावी कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि जिन कार्यालयों के कर्मियों ने अपनी चल-अचल सम्पत्ति का विवरण अभी तक प्रस्तुत नहीं किया है, उनकी जिलेवार सूची बनाकर उन्हें उपलब्ध कराई जाये। उन्होंने कहा कि ऐसे लापरवाह कर्मियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने विभिन्न प्रकरणों में आरोपित जुर्माने की धनराशि की धीमी वसूली पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि एक माह के भीतर जुर्माने की धनराशि को वसूला जाये।श्री अग्रवाल ने ग्राम सभा के तलाबों पर अवैध कब्जों को तत्काल मुक्त कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि तलाबों पर कब्जा करने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि बरसात के मौसम से पूर्व ही मत्स्य पालकों को मछली पालन के लिए तालाबों के आंवटन की प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाये। जिन ग्रामों में आवास व कृषि के भूमि हो, ऐसी भूमि का आवंटन पात्र लाभार्थियांे के बीच कर दिया जाये। उन्होंने दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में और तेजी लाने के साथ ही चयनित ग्रामों को समय सीमा के भीतर उर्जीकृत कराये। उन्होंने कहा 11 वीं पंचवर्षीय योजना के गांवों के विद्युतीकरण की प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिये।आयुक्त ने जल निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे हैण्डपम्पों का समुचित रखरखाव करे। उन्होंने निर्देश दिये कि जनपद षामली के ग्राम बन्धी खेड़ा में पेयजल पाईप लाईन की स्वयं मौके पर जांच कर रिपोर्ट उनकों प्रस्तुत करें। लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जनपद में खनन के प्रतिबंध होने के चलते 15 जून तक सड़कों को गड्ढा मुक्त नहीं किया जा सकेंगा। इसकी जानकारी शासन को भी गयी है। उन्होंने सभी मुख्य विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे लक्ष्य के अनुरूप शौचालयों का निर्माण कराये तथा स्वच्छता गृहीय की तैनाती भी की जाये।बैठक में अपर आयुक्त डॉ. आभा गुप्ता, उदय राम, जिलाधिकारी सहारनपुर एन.पी.सिंह, मुजफ्फरनगर जी.सी.प्रियदर्षी, शामली इन्द्र विक्रम सिंह, सभी जनपदों के मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व), सभी विभागों के मण्डलीय वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

  Similar Posts

Share it
Top