Saharanpur Live Hindi News|Saharanpur Live Latest Hindi News| सहारनपुर अवैध वसूली करने वाले निगम एवं पुलिसकर्मियों के लिये अतिक्रमण हटाना बना टेढ़ी खीर

Saharanpur Live Hindi News|Saharanpur Live Latest Hindi News| सहारनपुर अवैध वसूली करने वाले निगम एवं पुलिसकर्मियों के लिये अतिक्रमण हटाना बना टेढ़ी खीरsaharanpur city live latest hindi news bharat ka ujala

सहारनपुर : नगर निगम के आलाधिकारी अतिक्रमण हटाओ अभियान के नाम पर खनापूर्ति कर रेहडी, खोमचे एंव फडी लगाकर दो जुन की रोजी रोटी कमाने वाले गरीबों को निशाना बना कर अपनी पीठ थपथपा रहें हैं। जिलाधिकारी अतिक्रमण हटाओ अभियान मे बरती जा रही लापरवाही को लेकर नगरायुक्त कडी फटकार भी लगा चुके है।नगर निगम के अधिकारी तथा उसका पुरा अमला यूं तो सहारनपुर महानगर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए रोजाना नई-नई योजनाएं बनाने के साथ ही सेमिनार एंव जागरूकता रैलियों के आयोजन करने में लगा है, परन्तु महानगर की सडकों एंव दलित-मुस्मिल बाहुल्य क्षेत्रों में व्याप्त गंदगी तथा जल भराव के प्रति पुरी तरह से अनभिज्ञ बना हुआ हैं। इसके साथ ही नगर निगम के अधिकारी सडकों पर से अस्थाई अतिक्रमण के पीछे तो लठ लेकर दौड रहे हैं, जबकि स्थाई अतिक्रमण को लेकर कभी भी गम्भीर नही रहें हैं। यही वजह है कि नगर निगम के अधिकारियों पर अतिक्रमण हटाओ अभियान के समय पक्षपात बरतने के आरोप लगते रहें हैं। महानगर का नेहरू मार्किट हो अथवा शहीद गंज या फिर बाजार मोरगंज हो इन सभी में दुकान दारो ने स्थाई अतिक्रमण कर सडकों को गलियों में तबदील कर दिया हैं। इसके साथ ही कुछ दुकान दारों ने सडकों के किनारे बनी नालीयों को भी ढाप कर अपनी दुकानो का हिस्सा बना लिया है।महानगर की सडको पर फैले अतिक्रमण के लिए काफी हद तक नगर निगम प्रशासन एंव विद्युत विभाग भी जिम्मेदार है। क्योंकि नगर निगम की ओर से मुख्य सडकों के किनारे कई स्थानों पर शुलभ शौचालयों का निर्माण करा दिया गया है तो कहीं उत्तर प्रदेश पॉवर कार्पोरेशन के कारकुनों ने लबे सडकों के किनारो पर ही ट्रांसफार्मर लगा दिये गये हैं। इनकी आड में कानून से बेखौफ लोगों ने स्थाई एंव अस्थाई अतिक्रमण कर लिया है। सूत्रों का कहना है कि अस्थाई अतिक्रमण करने वाले दुकान दारों से नगर निगम के कारिन्दे तथा क्षेत्रीय पुलिस के पालतु गुण्डे प्रति दिन पचास से लेकर सौ रूपये की उगाही करते हैं। सूत्रों के अनुसार बाजारों में फोल्डिंग पलंग बिछाकर दुकान लगाने वाले दुकान दार से प्रति दुकान सौ रूपये वसूले जाते हैं। इन सौ रूपये में से साठ रूपये पुलिस के एंव चालीस रूपये नगर निगम के कर्मचारियों का हिस्सा होते हैं। इतना ही नही नगर कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत जामा मस्जिद के आस-पास तो अतिक्रमण के साथ ही यहां के कुछ रेहडी दुकादार महिला ग्राहकों के साथ अभद्र व्यवहार भी करने से नही चुकते हैं। अब इन हालात में नगर निगम प्रशासन एंव पुलिस विभाग के सामने सड़कों से अतिक्रमण हटवाना दूर की कोडी दिखाई देती है।

  Similar Posts

Share it
Top