Saharanpur Hindi News Uttar Pradesh Government Ko Lag Raha Lakho Ka Chuna| उत्तर प्रदेश सरकार को सेल्सटैक्स विभाग व जीआरपी के कारण लग रहा लाखो का चुना

Saharanpur Hindi News Uttar Pradesh Government Ko Lag Raha Lakho Ka Chuna|  उत्तर प्रदेश सरकार को सेल्सटैक्स विभाग व जीआरपी के कारण लग रहा लाखो का चुनाSaharanpur Hindi News Uttar Pradesh Government Ko Lag Raha Lakho Ka Chuna

सहारनपुर : उत्तर प्रदेश में सरकार बदल गई। सरकार की योजना एंव नीतियां बदलने के साथ ही सरकारी मशीनरी की कार्य शैली में थी बदलाव आ रहा है, परन्तु वाणीज्य कर विभाग के आला अफसरों के चाल ढाल में अभी सपा सरकार की कार्य प्रणाली ही झलक रही है। यही वजह है कि जनपद में कर अपवंचन का कारोबार अभी बदस्तुर जारी है।रेलमार्ग एंव सडक के रास्तें प्रति दिन जनपद में लाखों रूपये का किमती समान व्यापार कर की चोरी कर लाया जा रहा है। वाणीज्य कर विभाग के अफसर हांलाकि सेल्सटैक्स की चोरी रोकने के बडे-बडे दावे करते नही थकत रहें हैं,परन्तु इसके बाद भी कर चोरी का गोरख धंधा लगातार जारी है। कर अपवंचको को हर सरकार में सफेद पोशो का भी खुला सरंक्षण रहता है, यही वजह कि कर अपवंचक खुलकर बैटिंग करने से नही चुकते हैं। पूर्व सरकार में स्थानिय समाजवादी पार्टी के नेताओं की छत्रछाया कर अपवंचकों के सिर पर तों अब प्रदेश की सत्ता में पन्द्रह साल बाद लौटी भारतीय जनता पार्टी के कुछ नेता भी सपाईयों के नक्शे कदम पर चलकर कर अपवंचकों के साथ कदम ताल कर रहें हैं। सत्ता पक्ष का समर्थन कर चोरी करने वाले के साथ होने के कारण विभागीय अधिकारी भी अपनी जेबे भरने में काई कसर नही छोड रहें हैं। सूत्रों के अनुसार रेलवे स्टेशन पर रेल मार्ग द्वारा जो कर अपवंचक अपना घंधा चला रहें हैं, उनमें मुकेश पव्वा, गुड्डू सरदार, इरसाद सादा, विजय मिन्नी, प्रदीप, मंगला, भण्डारी, डिम्पल, बोबी जैन, हैदर, अली, चार्ली, अजित कुमार एंव अजय आदि ऐसे नाम हैं, जो प्रति दिन दिल्ली के साथ-साथ पंजाब, हरियाणा एंव उत्तराखंड से कर अपवंचन का कारोबार बे रोक टोक चला रहें हैं। सूत्रों के अनुसार कर अपवंचकों के लिये जहां वाणीज्य कर विभाग के कुछ अधिकारी संरक्षक की भूमिका निभा रहें हैं। वहीं राजकीय रेलवे पुलिस के जवान भी रेलवे की बजाय कर अपवंचकों की सुरक्षा का अधिक ख्याल रखते हैं। इसके अलावा महानगर के तीन प्रमुख थानों की पुलिस भी का भी कर अपवंचकों को पुरा संरक्षण रहता है। सूत्रों के अनुसार कर अपवंचक मुकेश पव्वा ने तो कर अपवंचन का अपना बडा नेटवर्क पडौसी राज्य उत्तराखंड में थी देहरादुन से लेकर नैनीताल एंव पौडीगढवाल तक फैला दिया है। इतना ही नही पव्वा अपने कर अपवंचक क्षेत्र के गुरू पप्पू को पीछे छोडने के लिए अब धीरें-धीरे देहरादुन के विकास नगर के रास्ते हिमाचल प्रदेश की ओर भी कदम बढाने में लगा है। बहरहाल कारण कुछ भी हो परन्तु जिस प्रकार से इस समय वाणीज्य कर विभाग एंव जी.आर.पी पुलिस का संरक्षण कर अपवंचकों को मिल रहा है, उससे लगातार राज्य सरकार को रोजाना लाखों रूपये का फटका लग रहा है।

  Similar Posts

Share it
Top