सन्तों का आर्शिवाद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत बने विश्वगुरू

सन्तों का आर्शिवाद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत बने विश्वगुरूसन्तों का आर्शिवाद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत बने विश्वगुरू

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सोमवार की सुबह संतो से आर्शिवाद लेने गढ़वाघाट पहुंचे। कड़ी सुरक्षा के बीच गढ़वाघाट आश्रम पहुंचे प्रधानमंत्री ने पहले श्री 1008 आत्मा विवेकानन्द महाराज की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। इसके पूर्व पीएम के आश्रम में पहुंचने पर पीठाधीश्वर सद्गुरू सरनानन्द जी महाराज और अन्य सन्तो ने रूद्राक्ष और चंदन की माला आर्शिवाद स्वरूप पहना कर उनका स्वागत किया। इस दौरान पीएम ने आश्रम की गायों को केला खिलाकर गो सेवा भी की। गो सेवा के बाद आश्रम में आयोजित सन्त समागम में पीठाधीश्वर सद्गुरू सरनानन्द जी महाराज ने अपने आर्शीवचन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहचान स्वामी विवेकानन्द की तरह बने और उनके अगुवाई में देश विश्वगुरू बने यही कामना है। पूरे समागम के दौरान प्रधानमंत्री ने सन्तो के प्रति पुरी आदर और श्रद्धा दिखायी। मंच पर भी पीएम पीठाधीश्वर के सम्मान में खड़े रहे जब स्वामी सरनानन्द कुर्सी पर बैठे तब उसके बाद पीएम बैठे। सन्तो के प्रति पीएम का अनुराग देख अनुयायी आह्लादित रहे। इस दौरान वहां भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सांसद भूपेन्द्र यादव भी मौजूद रहे। इसके पूर्व विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण में अपने संसदीय क्षेत्र काशी में तीन दिवसीय दौरे और प्रवास के अन्तिम दिन प्रधानमंत्री डीरेका आफिसर्स गेस्ट हाउस से नगवां सामनेघाट होते हुए गढ़वाघाट आश्रम पहुंचे। इस दौरान पीएम मोदी को देखने के लिए सड़क के दोनों पटरियों के किनारे और घरों की छतों पर लोगों की भीड़ जुटी रहीं। लोग इस दौरान मोदी मोदी हर हर मोदी की नारेबाजी करते रहे। यह देख पीएम भी अपने वाहन में बैठे बैठे लोगों का अभिवादन करते रहे। इस रूट पर पीएम के आगमन को देख वहां सुरक्षा का व्यापक प्रबन्ध किया गया था। प्रधानमंत्री के इस रोड पर आने के पूर्व एक घंटा पहले से ही यातायात प्रतिबंधित कर दिया गया थाा। बता दें, गढ़वाघाट आश्रम के अनुयायियों में पूर्वांचल के यादवों की बड़ी तादात शामिल है। भक्ति और ध्यान परम्परा से जुड़े इस आश्रम के लाखों अनुयायी बताये जाते हैं, जो ज्यादातर दलित और पिछड़े समाज, खासकर यादवों में से हैं। माना जाता है कि गढ़वा घाट भगवान कृष्ण के वंशजों का है। इस पीठ से कई बड़े राजनेताओं की आस्था जुड़ी हुई है। इस आश्रम का जुड़ाव सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव से है। यहां शिवपाल सिंह यादव सांसद अमर सिंह का आना जाना अक्सर लगा रहता है। पूर्व में यहां सुबे के पूर्व मुख्यमंत्री अब गृहमंत्री राजनाथ सिंह आकर सन्तो का आर्शिवाद ले चुके है। पीएम के आज इस आश्रम में जाने को सीधे विधानसभा चुनाव से जोड़ा जा रहा है। उधर पीएम के आश्रम में जाने पर विरोधी दल खासकर सपा में नाराजगी बढ़ गई है।

  Similar Posts

Share it
Top