मुंबई: 56 इंच के सीने का क्या करें जब उसमें दिल ही नहीं: उद्धव

मुंबई: 56 इंच के सीने का क्या करें जब उसमें दिल ही नहीं: उद्धवमुंबई: 56 इंच के सीने का क्या करें जब उसमें दिल ही नहीं: उद्धव

मुंबई : शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भाजपा पर करारा हमला करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी निशाने पर लिया है। उद्धव ठाकरे ने इंडिया टीवी के मैनेजिंग एडिटर अजित अंजुम को दिए खास इंटरव्यू में कहा कि जब सीने में दिल ही नहीं तो 56 इंच के सीने का मेरे लिए कोई मतलब नहीं। वहीं उन्होंने यूपी के सीएम अखिलेश यादव की तारीफ की। इंडिया टीवी की प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक उद्धव ठाकरे की बातों में पीएम मोदी के प्रति तल्खी भी साफ दिखी। उन्होंने कहा कि सीना कितने इंच का होता है उससे लेना देना नहीं है, लेकिन सीने में दिल होना चाहिए। शिव सेना प्रमुख ने कहा, नरेन्द्र भाई के साथ अच्छा रिश्ता था। व्यक्तिगत रूप में कोई दुश्मन नहीं होता। लेकिन जब आपको लगता है कि नीति देश को बर्बाद करेगी तो आप विरोध करते हैं, उसकी बात अलग होती है। मुंबई के लोगों से पूछिए.. बीजेपी और आपका रिश्ता क्या है? मुंबई में जब भी कोई आपत्ति आती है तो हमारे शिव सैनिक दौरे पर जाते हैं। कोई बीजेपी वाला जाता है? उद्धव ने कहा, मोदी जी कोई मेरे दुश्मन नहीं हैं, जो सही है सही है जो गलत है वो गलत है। महाराष्ट्र में बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़ने की संभावना पर उद्धव ने कहा, ये फैसला वो भी तो ले सकते हैं.. मैं क्यों लूं (अलग होने का), अगर मैं सपोर्ट नहीं करता तो वो सरकार कैसे बनाते। उद्धव ठाकरे से जब यह सवाल किया गया कि क्या महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना साझा सरकार पूरे पांच साल चलेगी, उद्धव ने कहा पता नहीं। वहीं जब अखिलेश की तारीफ से जुड़ा सवाल पूछा गया तो उद्धव ठाकरे ने कहा, अखिलेश की तारीफ क्यों न करूं, अखिलेश काम अच्छा कर रहे हों तो अखिलेश को एक मौका मिलना चाहिए। उद्धव ने कहा कि पिछले 25 साल से हमारा बीजेपी से गठबंधन था। पूरी पीढ़ी बदल गई, एक समय था जब मेरे पिता जी के साथ अटल जी, आडवाणी जी, सुषमा जी जैसे नेता आते थे लेकिन अब उनके (ठश्रच्) मंच पर गुंडे दिखाई देते हैं। शिवसेना प्रमुख ने कहा जो एक विचारधारा थी वो कहां गई? कॉमन सिविल कोड बनायेंगे, राम मंदिर बनायेंगे, पाकिस्तान को सबक सिखायेंगे.. कब सिखायेंगे? कितने पैसे बिहार को मिले? शिवाजी महाराज का स्मारक बनायेंगे..टेंडर कहां है? झूठी बातें कब तक करेंगे? उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमारा बीजेपी से गठबंधन नहीं था, विचारधारा के लिए यह रिश्ता कायम हुआ था, जिसे हमने 25 सालों तक निभाया। उद्धव ने कहा, बुरे दिन में जो आपके साथ रहा उनको आपने छोड़ दिया... हिन्दू विचारधारा वाली शिवसेना आपको नहीं चलता..मुफ्ती मोहम्मद..महबूबा चलता है? शिवसेना प्रमुख ने कहा कि कश्मीर में सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद उन्होंने फोन करके पीएम को बधाई दी थी। वहीं नोटबंदी पर उन्होंने सरकार के कदम की आलोचना करते हुए कहा कि करीब 200 लोग देश भर में नोटबंदी के दौरान तड़प कर मर गए। बीएसएफ के एक जवान की भी मौत हो गई। उद्धव ठाकरे ने कहा, मैं मोदी जी के बारे में कहूं तो आप कहते हैं आलोचना करता हूं ..लेकिन स्वयं देवेन्द्र फड़नविस उनको नकार रहे हैं, कि बेकार के लोग उन्होंने आस पास रखे हैं..केंद्र में फालतू लोग बैठे हैं.. जो ऐसी रिपोर्ट बनाते हैं, उनका भरोसा नहीं है मोदी जी पर.... मोदी जी की जो कैबिनेट है ...उनके ऊपर उनका भरोसा नहीं है। उद्धव ठाकरे ने एनसीपी चीफ शरद पवार और प्रधानमंत्री मोदी के बीच नजदीकी रिश्तों पर सवाल उठाते हुए कहा, चुनाव के पहले यही मोदी जी थे जिन्होंने चाचा भतीजे (शरद पवार और अजित पवार) पर आरोप लगाये थे। वह खुद शरद पवार जी के घर जाते हैं और कहते हैं वे गुरु हैं.. क्या सच है... ये जो दोहरी नीति है... ये भी कारण है युति तोड़ने का... मैं तैयार हूं.. सिर्फ कुछ चाहिए इसीलिए युति तोड़ने का फैसला नहीं किया।

  Similar Posts

Share it
Top