नई दिल्ली: 2019 की समय सीमा के भीतर ही पूरा हो जाएगा रोहतांग सुरंग

नई दिल्ली: 2019 की समय सीमा के भीतर ही पूरा हो जाएगा रोहतांग सुरंगनई दिल्ली: 2019 की समय सीमा के भीतर ही पूरा हो जाएगा रोहतांग सुरंग

नई दिल्ली : महत्वपूर्ण परियोजना रोहतांग सुरंग का निर्माण कार्य इसके लिए तय की गई वर्ष 2019 की समय सीमा के भीतर ही पूरा हो जाएगा। इस परियोजना से संबंधित इंजीनियरों ने बताया कि रोहतांग सुरंग के बन जाने के बाद लाहौल और स्पीति घाटी के लिए साल भर सड़क के माध्यम से संपर्क की सुविधा हो जाएगी। यह सुरंग हिमाचल प्रदेश के रोहतांग दर्रा में 10,000 फीट की उंचाई पर स्थित है। वर्ष 2010 में इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ था जब इसकी समय सीमा साल 2015 तय थी लेकिन भौगोलिक चुनौतियों की वजह से यह काम पूरा नहीं हो सका। इस परियोजना की कार्यान्वयन एजेंसी सीमा सड़क संगठन(बीआरओ) के आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल 2,249 मीटर तक सुरंग की खुदाई कर ली गई थी जो अब तक का एक साल का सर्वाधिक कार्य है। हिमालय के पीर पंजाल रेंज तक जाने वाली इस सुरंग की लंबाई 8.8 किलोमीटर है, जो मनाली को लाहौल और स्पीति घाटी से पूरे साल जोड़ेगी। इससे लेह-मनाली राजमार्ग की लगभग 46 किलोमीटर की दूरी कम हो जाएगी। इस महत्वाकांक्षी परियोजना के मुख्य इंजीनियर ब्रिगेडियर डी एन भट्ट ने उम्मीद जतायी है कि वर्ष 2017 की दूसरी छमाही में सुरंग के दोनों छोरों का काम पूरा हो जाएगा और वर्ष 2019 की तय समयसीमा के भीतर ही उनकी टीम इस सुरंग को सेवा के लिए देश को समर्पित कर देगी।

  Similar Posts

Share it
Top