ओखला फेज-2 में दीवार गिरने से मजदूर की मौत

2017-01-01 09:13:42.0

ओखला फेज-2 में दीवार गिरने से मजदूर की मौत

नई दिल्ली : ओखला फेज-2 में शनिवार सुबह निर्माणाधीन भवन के बेसमेंट की दीवार गिर जाने से उसके नीचे दब नौ मजदूर घायल हो गए। इसमें एक की मौत हो गई तथा दो की हालत गंभीर है। कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करवा रहे इंजीनियर और सुपरवाइजरों द्वारा पुलिस को देर से सूचना देने के कारण आधे घंटे बाद पुलिस और एंबुलेंस पहुंची। जिसके कारण गंभीर रूप से घायल एक मजदूर की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में भवन निर्माण करवा रहे खिड़की निवासी अनीश सैनी, कांट्रैक्टर भगत सहित कंस्ट्रक्शन साइट के प्रभारी इंजीनियर और सुपरवाइजर पर लापरवाही का मामला दर्ज किया है।मृतक की पहचान नरेंद्र सिंह उर्फ सोनू (25) के रूप में हुई है। घायलों के नाम रिजवान (38), गुरदीप (30), अनेक सिंह (50), गुरदयाल (27), सुनील (33), पम्मी (26), धर्मेद्र और शैल सिंह हैं। इसमें रिजवान को जबड़े और गर्दन के पीछे स्पाइन में चोट आई है, वहीं गुरदीप के दोनों पैर टूट गए हैं। इनका बत्रा अस्पताल में ऑपरेशन हुआ।पुलिस अधिकारी के अनुसार, मृतक सोनू और उसके आठों साथी शनिवार सुबह 10 बजे ओख्रला फेज-2 स्थित एक्स 15 नंबर प्लॉट, में बन रहे भवन के बेसमेंट में शट¨रग का काम कर रहे थे। तभी अचानक करीब 15 फुट ऊंची दीवार उन पर गिर गई। वहां काम कर रहे अन्य मजदूरों ने मलबे से बाहर निकाला। दीवार के सबसे नजदीक सोनू के होने के कारण वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। मजदूरों ने साइट सुपरवाइजर से इसकी जानकारी पुलिस को देने की बात कही पर उसने पुलिस को करीब आधे घंटे तक जानकारी नहीं दी। करीब आधे घंटे बाद 10.35 बजे उन लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।मजदूरों को नहीं दिये गए थे हेलमेट: काम कर रहे किसी भी मजदूर को कांट्रैक्टर की ओर से हेलमेट प्रदान नहीं किया गया था। मजदूरों ने आरोप लगाया कि पिछले दो दिन से दीवार से पानी सिपेज होने के कारण उसमें दरार आने लगी थी। मजदूरों ने इसकी शिकायत सुपरवाइजर से की थी पर मालिक द्वारा काम रोकने का आदेश नहीं होने की बात कर उनकी बातों को अनसुना कर दिया था।

  Similar Posts

Share it
Top