लखनऊ: अखिलेश के अधिवेशन को मुलायम ने बताया असंवैधानिक

2017-01-01 22:00:57.0

लखनऊ: अखिलेश के अधिवेशन को मुलायम ने बताया असंवैधानिक

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी में आंग्ल नववर्ष में भी कथित सियासी दंगल जारी है। एक ओर यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जहां पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाए और कार्यक्रम स्थल पर पहुंच भी चुके हैं। वहीं सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव उस अधिवेशन को ही असंवैधानिक करार दे रहे हैं। खबर है कि राष्ट्रीय अधिवेशन के बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव संसदीय कमेटी की बैठक बुला सकते हैं। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव से मिलने उनके घर पहुंचे हैं। मौके पर गायत्री प्रजापति भी मौजूद हैं। सूत्रों के मुताबिक यहां पर शिवपाल ने मुलायम से अपने पद से इस्तीफे की पेशकश की है। शिवपाल यादव ने कहा कि अगर यूपी अध्यक्ष पद से उनका इस्तीफा लेने के बाद झगड़ा खत्म हो तो उनका इस्तीफा ले लिया जाए। वहीं, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव के पार्टी का आपातकालीन राष्ट्रीय अधिवेशन शुरु हो चुका है। अधिवेशन में अखिलेश यादव द्वारा प्रस्ताव पर हस्ताक्षर कराया जा रहा है। उस प्रस्ताव में अनुशासनहीनता करने वाले पार्टी के नेताओं और पदाधिकारियों को हटाये जाने की बात लिखी हुई है। राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का समाजवादी पार्टी में यह उनका शक्ति प्रदर्शन है। यह अधिवेशन लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क में चल रहा है। अधिवेशन को लेकर पार्टी के कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह है। वो सुबह से ही जनेश्वर मिश्र पार्क में एकत्रित होना शुरू हो गए हैं। हालांकि, मुलायम ने इस अधिवेशन को असंवैधानिक करार दिया है और कहा कि वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, उनके पास ये अधिकार हैं। उन्होंने कहा है कि जो भी इस अधिवेशन में शामिल हो वो उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे। मुलायम ने चिट्ठी जारी कर ये बातें कही हैं। शनिवार को अखिलेश के शक्ति प्रदर्शन के बाद महज 18 घंटे में अखिलेश यादव और राम गोपाल का पार्टी से निष्कासन वापस ले लिया गया। रविवार को राष्ट्रीय अधिवेशन के जरिये अखिलेश ये साबित करेंगे कि समाजवादी पार्टी उनके पीछे है और पार्टी में उनकी ही चलेगी। सबसे अहम बात ये है कि आज के राष्ट्रीय अधिवेशन के लिए लगाए गए पोस्टर से शिवपाल की फोटो नदारद हैं।

  Similar Posts

Share it
Top