नई दिल्ली: सभी खेल संस्थाओं से नेताओं का हस्तक्षेप खत्म हो: आप

2017-01-03 11:00:39.0

नई दिल्ली: सभी खेल संस्थाओं से नेताओं का हस्तक्षेप खत्म हो: आप

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी ने बीसीसीआई पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए देश की तमाम खेल संस्थाओं से राजनीतिक पार्टियों का प्रभुत्व खत्म करने और राजनेताओं का हस्तक्षेप खत्म करने की मांग की है। गौरतलब है कि सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस लोढ़ा कमिटी की सिफारिशें लागू नहीं करने के चलते बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को बर्खास्त कर दिया है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी के दिल्ली संयोजक दिलिप पांडेय ने कहा, हमारी पार्टी सुप्रीम कोर्ट के इस एतिहासिक फैसले का स्वागत करती है। आम आदमी पार्टी का मानना है कि देश की तमाम खेल संस्थाओं से ना केवल राजनीतिक पार्टियों का प्रभुत्व खत्म होना चाहिए बल्कि नेताओं का हस्तक्षेप भी पूरी तरह खत्म किया जाना चाहिए। दिलीप ने कहा, जस्टिस लोढ़ा कमिटी की सिफारिशों के मूल भाव को देश की सभी खेल संस्थाओं में लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला ऐडवोकेट राहुल मेहरा जैसे संघर्षशील लोगों के लिए भी एक जीत की तरह है जो लगातार देश की खेल संस्थाओं को राजनीतिक हस्तक्षेप से आजाद करवाने और खेल की बेहतरी के लिए अदालत से लेकर सड़क तक संघर्ष कर रहे हैं। दिलीप ने दावा किया कि आप पूर्व में भी डीडीसीए में हुए भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाती रही है क्योंकि खेल संस्थाओं में व्याप्त भ्रष्टाचार और कुशासन ने देश में खेल संस्थाओं और खेल की प्रतिभाओं को बर्बाद कर दिया है। खेल संस्थाओं में व्याप्त भ्रष्टाचार ही सिर्फ एक मुद्दा नहीं है बल्कि देश में खेल का कमजोर ढांचा भी एक बड़ा मुद्दा है। उन्होंने कहा कि खेल संस्थाओं को अच्छे तरीके से चलाने के लिए खेल स्वराज मॉडल यानि किसी पूर्व खिलाड़ी को ही इनकी कमान सौंपी जानी चाहिए क्योंकि एक खिलाड़ी ना केवल खेल को अच्छी तरह समझता है बल्कि वह खिलाड़ियों की जरूरतों को भी बखूबी जानता है। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि देश में खेलों से जुड़ा भी एक मजबूत कानून हो ताकि न केवल खेल संस्थाओं को राजनीतिक हस्तक्षेप से बचाया जा सके बल्कि खेल प्रतिभाओं के साथ भी न्याय हो सके।

  Similar Posts

Share it
Top