वेंकूवर: इंसान के भीतर बाहर को रौशन करता है प्यार: शाहरुख खान

वेंकूवर: इंसान के भीतर बाहर को रौशन करता है प्यार: शाहरुख खानइंसान के भीतर बाहर को रौशन करता है प्यार: शाहरुख खान

वेंकूवर : ऐसा हो भी सकता है और नहीं भी कि शाहरूख खान ने हाल में प्रसिद्ध टेड टॉक कार्यक्रम में अपने संबोधन में जब दीवारों को गिराने की बात की तब वह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की तरफ संकेत कर रहे थे। उन्होंने यहां अपने संबोधन में कहा, आप अपनी ताकत का इस्तेमाल दीवार बनाने और लोगों को बाहर रखने के लिए कर सकते हैं या फिर अवरोधों को तोड़ने के लिए एवं लोगों का भीतर स्वागत करने के लिए कर सकते हैं। अपने 17 मिनट के भाषण में अभिनेता ने प्यार, प्रसिद्धी एवं मानवता पर अपने विचार साझा किए। यह किसी भारतीय फिल्म कलाकार का इस तरह का पहला संबोधन था। उन्होंने टेड टॉक्स सम्मेलन में कहा, मैंने अपने देश के लोगों से सीखा है कि एक जिंदगी, एक इंसान, एक संस्कृति, एक धर्म, एक देश की गरिमा असल में उसकी शिष्टता एवं करूणा की क्षमता में बसती है। शाहरूख ने कहा, मैंने समझा है कि आपको जो भी चीजें विचलित करें, सृजन के लिए प्रेरित करें, नाकाम होने से बचाए, जीने में मदद करे, वह शायद मानव जाति को ज्ञात सबसे पुरानी एवं साधारण भावना है और वह है प्यार। उन्होंने कहा कि प्यार इंसानियत को रौशन करने के लिए काफी है। अभिनेता ने कहा, इसलिए मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाले समय में आप वह आप होंगे जो प्यार करता हो, प्यार में भरोसा करता हो।

  Similar Posts

Share it
Top