मुंबई: पंजाबी सिनेमा में हनी सिंह की बड़ी उपलब्धि

मुंबई: पंजाबी सिनेमा में हनी सिंह की बड़ी उपलब्धिपंजाबी सिनेमा में हनी सिंह की बड़ी उपलब्धि

मुंबई : पुरस्कार की चाह किसे नहीं होती। हर कलाकार चाहता है कि उसे पुरस्कार मिले ताकि उसे यह महसूस हो सके कि उसकी कला को समाज ने अपना लिया है और उसे पसंद भी किया जा रहा है। बात जब हनी सिंह की हो, तो उनके आगे पुरस्कार जैसे शब्द कोई मायने नहीं रखते क्योंकि आज उनका नाम बच्चे-बच्चे की जुबान पर है जिनका प्यार ही उनके लिए सबसे बड़ा पुरस्कार है, पर फिर भी पुरस्कारों का वजूद तो कायम रहेगा ही। अगर हनी सिंह ने किसी फिल्म में धमाकेदार काम किया है तो वह भी पुरस्कार के हकदार हैं। 2016 में आई फिल्म जोरावर में एक ऐसा ही एक दमदार और धमाकेदार गीत गाया था हनी सिंह ने जिसे सुन हर कोई थिरकने पर मजबूर हो गया था। यह गीत था फिल्म जोरावर से रात जश्न दी। फिल्म तो 2016 की एक बड़ी हिट थी ही लेकिन इस गाने को भी दर्शको का खूब प्यार मिला और ये ही वजह है कि यो यो हनी सिंह का गाना रात जश्न दी को प्रेस्टीजियस पंजाबी फिल्म पुरस्कार 2016 से नवाजा गया है और इसी के साथ हनी सिंह के नाम दर्ज हो गयी है एक ओर उपलब्धि।

  Similar Posts

Share it
Top