उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अगर सपा और कांग्रेस गठबंधन करना ही चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करने से कौन रोक सकता है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अगर सपा और कांग्रेस गठबंधन करना ही चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करने से कौन रोक सकता है

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा और कांग्रेस में गठबंधन के दिये संकेत पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव से सोमवार को यहां करीब 45 मिनट की बैठक करने के बाद अखिलेश ने कहा कि अगर सपा और कांग्रेस गठबंधन करना ही चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करने से कौन रोक सकता है अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में विधानसभा के चुनाव नजदीक हैं समय बहुत कम है महागठबंधन और दलों को जोड़कर चुनाव लड़ने की बात चल रही है इसमें किसको फायदा होगा और किसको नुकसान, इसका आंकलन करके फैसला लेना होगा उन्होंने कहा कि गठबंधन के संबंध में जो भी फैसला लेना होगा, नेताजी मुलायम सिंह यादव लेंगे मुझे जो सुझाव देना होगा, उसे पार्टी के सामने रखूंगा अंतिम निर्णय तो नेताजी को ही लेना है।गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव को लेकर इस समय सियासी गलियारे में सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन की चर्चा जोरों पर है कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर सपा मुखिया से दो बार मिल चुके हैं हालांकि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और अन्य नेता इन अटकलों को बेबुनियाद बता रहे हैं, लेकिन सूत्रों का कहना है कि दोनों दल चुनाव से पहले गठबंधन चाहते हैं मामला सीट बंटवारे को लेकर फंसा बताया जा रहा है सपा मुखिया बिहार की तर्ज पर उप्र में में भी महागठबंधन चाते हैं पार्टी की रजत जयंती के अवसर पर देश भर के पुराने समाजवादियों को इकट्ठा करना भी इसी कवायद का ही हिस्सा माना जा रहा है जयंती समारोह के दौरान वहां जुटे सभी नेताओं ने यह मंशा भी जाहिर की थी कि भाजपा को रोकने के लिए उप्र में भी महागठबंधन आवश्यक है राजधानी में चर्चा है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज जो मुलायम के साथ करीब 45 मिनट तक की बैठक किये वह भी इसी मुद्दे पर थी हालांकि इस बैठक में हुई चर्चा के आधिकारिक बयान नहीं आये हैं,

  Similar Posts

Share it
Top