New Delhi Latest Hindi Samachar |सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि आतंकियों की मदद करने वाले भी हैं आतंकी

New Delhi Latest Hindi Samachar |सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि आतंकियों की मदद करने वाले भी हैं आतंकीआतंकियों की मदद करने वाले भी हैं आतंकी

नई दिल्ली : सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में स्थानीय लोगों के शत्रुतापूर्ण व्यवहार के कारण ज्यादा संख्या में जवान हताहत हो रहे हैं और उन्होंने चेतावनी दी कि आतंकवादियों के खिलाफ अभियान के दौरान सुरक्षा बलों पर हमला करने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि आतंकियों की मदद करने वाले भी आतंकी हैं और ऐसे लोगों की अब खैर नहीं है। उत्तर कश्मीर के बांदीपुरा के पारे मोहल्ला में आतंकवादियों के खिलाफ अभियान के दौरान तीन सैनिकों पर भारी पथराव किए जाने के बाद उन्होंने यह कड़ा संदेश दिया है। स्थानीय लोगों द्वारा पथराव करने से आतंकवादियों ने मौका पाते हुए अपनी तरफ बढ़ रहे सैनिकों पर हथगोले फेंके और एके राइफल से गोलीबारी की जिसमें तीन जवान शहीद हो गए और सीआरपीएफ के एक कमांडिंग अधिकारी सहित कुछ अन्य जख्मी हो गए। एक आतंकवादी इलाके से फरार होने में कामयाब रहा। जनरल रावत ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बल ज्यादा हताहत इसलिए हो रहे हैं कि स्थानीय लोग उनके अभियान में बाधा डालते हैं और कई बार आतंकवादियों के भागने में मदद करते हैं। सेना प्रमुख ने कहा कि हम स्थानीय लोगों से आग्रह करेंगे कि जिन लोगों ने हथियार उठाए हैं और वे स्थानीय लड़के हैं और अगर वे आईएसआईएस तथा पाकिस्तान के झंडे लहराकर आतंकवादी कृत्य करना चाहते हैं तो हम उनको राष्ट्र विरोधी तत्व मानेंगे और उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। जम्मू कश्मीर में आईएआईएस के झंडे लहराने वाले को भी नहीं बख्शेंगे। उन्होंने कहा कि आज हो सकता है कि वे बच जाएंगे लेकिन कल हम उन्हें पकड़ ही लेंगे। हमारा अनवरत अभियान जारी रहेगा। कश्मीर में कल अलग-अलग मुठभेड़ में शहीद हुए एक मेजर सहित चार सैनिकों को यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और सेनाप्रमुख ने श्रद्धांजलि दी। इसके बाद रावत ने यह कड़ा संदेश दिया। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, बहादुर जवानों को श्रद्धांजलि दी जो जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हो गए। भारत हमेशा उनकी कुर्बानी को याद रखेगा। जनरल रावत ने कहा कि जो लोग आतंकवादी गतिविधियों का समर्थन कर रहे हैं उन्हें एक अवसर दिया जा रहा है लेकिन अगर वे अपने कृत्यों को जारी रखते हैं तो सुरक्षा बल उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। हंदवाड़ा और बांदीपुरा अभियानों में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि हम उन्हें अवसर दे रहे हैं, इसके बावजूद अगर उनका कृत्य जारी रहता है तो हम अनवरत अभियान चलाएंगे और कठोर कदम भी उठा सकते हैं। सेना प्रमुख ने कहा कि अगर वे नहीं रुकते हैं और हमारे अभियान में बाधा डालते हैं तो हम कड़ी कार्रवाई करेंगे। अलग-अलग मुठभेड़ में कल चार आतंकवादी भी मारे गए थे। हंदवाड़ा और बांदीपुरा में मेजर सहित सेना के चार जवान शहीद हो गए थे।

  Similar Posts

Share it
Top