चेन्नई: वरदा से तमिलनाडु में 1,850 मेगावाट विद्युत उत्पादान प्रभावित

2016-12-14 08:15:19.0

चेन्नई: वरदा से तमिलनाडु में 1,850 मेगावाट विद्युत उत्पादान प्रभावित

चेन्नई : चेन्नई तट से गुजरे तूफान वरदा से उत्तर चेन्नई तापीय बिजली केंद्र (एनसीटीपीएस) की 600 मेगावाट इकाई-1 में बिजली उत्पादन प्रभावित हुआ है। पावर सिस्टम ऑपरेशन कॉरपोरेशन लिमिटेड (पीओएसओसीओ) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पीओएसओसीओ के मुताबिक, एनसीटीपीएस की दो अन्य इकाइयों (600 मेगावाट तथा दूसरी 210 मेगावट) में विद्युत उत्पादन ठप हो गया है। पीओएसओसीओ ने कहा कि तीनों इकाइयों से विद्युत उत्पादन कितने समय में फिर से शुरू होगा, इसकी कोई जानकारी नहीं है। इसी तरह, बिजली आपूर्ति लड़खड़ाने से मद्रास नाभिकीय विद्युत केंद्र (एमएपीएस) की 200 मेगावाट की दो इकाईयों में विद्युत उत्पादन सोमवार शाम से ही ठप है। पीओएसओसीओ के मुताबिक, एनसीटीपीएस की इकाई-1 संयंत्र ने तेज हवाओं के कारण सोमवार सुबह काम करना बंद कर दिया, जबकि दूसरे 600 मेगावाट के संयंत्र ने बिजली बाधित होने के कारण काम करना बंद कर दिया। पीओएसओसीओ ने कहा कि एनसीटीपीएस की 210 मेगावाट इकाई के काम न करने के कारणों की जांच की जा रही है। चेन्नई, कांचीपुरम तथा तिरुवल्लूर जिलों में विद्युत आपूर्ति बहाल करने में एक या दो दिन का समय और लगेगा। तूफान से प्रभावित इन तीनों जिलों में बिजली आपूर्ति कब बहाल होगी, यह बताने के लिए कोई शीर्ष अधिकारी उपलब्ध नहीं हुए। सोमवार की देर रात जारी एक बयान में मुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम ने कहा, तूफान वरदा के कारण 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवा की वजह से क्षतिग्रस्त हुई पावर लाइनों की मरम्मत के लिए तमिलनाडु विद्युत बोर्ड ने 4,000 कर्मचारियों को तैनात किया है। पन्नीरसेल्वम ने कहा कि उत्तर चेन्नई, तिरुवल्लूर तथा कांचीपुरम जिलों में विद्युत आपूर्ति को बहाल करने में दो दिन का समय लगेगा।

  Similar Posts

Share it
Top