कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदम्बरम ने आलोचना करते हुए कहा है पर्रिकर अपना तमाशा बनवा रहे

2016-10-16 10:15:14.0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदम्बरम ने आलोचना करते हुए कहा है पर्रिकर अपना तमाशा बनवा रहे

नई दिल्ली : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदम्बरम ने नियंत्रण रेखा के पार सीमित सैन्य कार्रवाई के संबंध में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के बयानों पर उनकी तीखी आलोचना करते हुए कहा है कि उनकी टिप्पणियों के गंभीर परिणाम हो सकते हैं।चिदम्बरम ने एक प्रकाशित लेख में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने मंत्रियों को आगाह किया था कि वे इस विषय में अपना सीना नहीं ठोंके, इसके बावजूद'रॉलर कोस्टर'पर सवार श्री पर्रिकर अपना तमाशा बनवा रहे हैं जबकि उन्हें संयम बरतना चाहिए। सीमित सैन्य कार्रवाई के बाद से वे बढ़चढक़र बयान दे रहे हैं और वे लोग भी उनकी हंसी उड़ा रहे हैं, जिन्होंने सामान्यत: सरकार का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने रक्षा मंत्री को अल्पभाषी कहा था लेकिन उसके दो ही दिन बाद सीमित सैन्य कार्रवाई पर उनके आक्रामक रुख पर उन्हें संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग)के नेताओं की कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी है। चिदम्बरम ने श्री पर्रिकर के इस बयान की भी आलोचना की कि सेना की यह सीमित सैन्य कार्रवाई देश के इतिहास में पहली सर्जिकल स्ट्राइक है। उन्होंने कहा कि पहले भी सीमा पार सैन्य कार्रवाइयां हुई हैं और बदले की कार्रवाई भी हुई है। पूर्व सेना प्रमुख जनरल बिक्रम भसह ने हाल में इसकी पुष्टि की है और पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन ने सीमा पार हुई ऐसी कार्रवाई की प्रकृति को स्पष्ट किया था।चिदम्बरम ने नियंत्रण रेखा पर संयम बनाए रखने का आग्रह करते हुए कहा कि सीमा पर संघर्ष विराम कायम रखना भारत और पाकिस्तान दोनों के हित में है। दोनों के बीच 2003 में सहमति बनी थी कि वे यथासंभव संघर्ष विराम का कायम रखेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के बाद वर्तमान सरकार को रणनीतिक संयम बरतने की नीति और सीमा पार कार्रवाई करने का अधिकार है लेकिन पूर्ववर्ती सरकारों और उसकी नीतियों का विस्तार करने और निन्दा करने का अधिकार नहीं है।

  Similar Posts

Share it
Top